Breaking News
Home / Uncategorized / छिपकली क्यों है सांप की मौसी!

छिपकली क्यों है सांप की मौसी!

क्या आप जानते हैं शेर की मौसी का ‘मौसी’ किसे कहा जाता है? आइए हम आपके इस सवाल का जवाब देते हैं। बिल्ली को शेर की मौसी कहा जाता है।

इसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है, लेकिन कुछ पुरानी काल्पनिक कहानियां बिल्ली को शेर की मौसी कहने लगीं। कहानी के अनुसार शेर अपने नवजात को बिल्ली के पास कौशल सीखने के लिए भेजता है।

बिल्ली सभी गुण सिखाती है लेकिन पेड़ पर चढ़ने का गुण नहीं सिखाती और उसी तरह शेर से बिल्ली की जान बच जाती है।

इसलिए बिल्ली को चतुर आंटी कहा जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि शेर की तरह सांप की भी एक ‘चाची’ होती है।

जी हां, आपने सही पढ़ा, सांपों में भी ‘मौसी’ (सांप की मौसी) होती है। हम बात कर रहे हैं एक ऐसे जीव की जो दिखने में सांप जैसा दिखता है।

स्किंक नाम का अंग्रेजी में ये जीव रेप्टाइल्स हैं। जैसे बिल्लियों को शेरों की मौसी कहने के पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है, वैसे ही बाबिनी को सांप की मौसी कहने के पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है।

उन्हें सिर्फ उनके सांप जैसे दिखने के कारण बुलाया जाता है। वे सांप और छिपकली की तरह दिखते हैं, लेकिन उनके पास छोटे पैर भी होते हैं जो सांप के पास नहीं होते हैं, जो एक चीज है जो उन्हें सांपों की चाची बनाती है।

उनकी त्वचा सांपों की तुलना में बहुत अधिक चमकदार और कोमल होती है। बबनी मैदानी इलाकों, घरों में आसानी से दिख जाती है लेकिन ये किसी को नुकसान नहीं पहुंचाती हैं।

आपको बता दें कि ये जीव सांपों की तरह जहरीले नहीं होते हैं और काफी शर्मीले होते हैं इसलिए ये छिपकलियों की तुलना में छिपकर रहना पसंद करते हैं।

 

About admin

Check Also

गांव की गवाँर समझ रहे थे लोग, मगर जब देसी लड़की ने लगाई विदेशी ठुमके, हिल गए लोग

दोस्तों जैसा कि हम सबको पता ही है कि सोशल मीडिया एक बहुत ही बड़ा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *